सीजेएम अलीगढ़ की कोर्ट ने वीसी सहित कई पर केस दिया दर्ज!

अलीगढ़ न्यूज़ : सीजेएम अलीगढ़ की कोर्ट ने एएम्यू वीसी प्रोफेसर तारिक मंसूर सहित रजिस्ट्रार प्रोफेसर जावेद अख्तर ,ओएसडी प्रोफेसर असफर अली खान, लीगल सेक्शन के डिप्युटी रजिस्ट्रार मोहम्मद आरीफुद्दीन अहमद के खिलाफ आप्राधिक केस रजिस्टर्ड हुआ ह 

डॉक्टर सदफ फातिमा दुआरा केस फाइल किआ है जिसमे  आरोप लगाए है कि आरोपीयों ने भारत के संवेद्धनिक सर्वोच्च अधिकारयों के आदेशो को मानने से माना करदिया, और रिकॉर्ड में हेरा फेरी कर कूट रचना कर झूंटी रिपोर्ट हाई कमान को भेजदी 


याचिया डॉक्टर सदफ फातिमा दुआरा एक शिकायत दिनाक 30.11.17को भारत के संवेद्धनिक सर्वोच्याधिकार्यों से की गई जिसके परिपेक्ष मे एएम्यू के वीसी  को कार्रवाई के आदेश हुए लेकिन वीसी ने आदेश का अनुपालन सूयम न कर शिकायत में जो आरोपी है उसी से निस्तारण करदिया 


डॉक्टर सदफ फातिमा का चयन एएमयू चयन समिति से एएमयू वीसी के निर्देशन में दिनाक 8.7.13 को चुना गया और नियुक्ति के लिए संबंधित अधिकारी मोहम्मद आरिफडीन अहमद के पास भेज गया लेकिन आरीफुद्दीन ने रंजिश वश नियुक्ति नही दी और ये कहदिया कि तुम ने एएमयू मे फ़र्ज़ी नियुक्तियों का खुलासा किया ह इसलिए तुम्हें नियुक्ति नही दीजाएगी जिसकी विभिन्न शिकायतें संवेधानिक सवोच्च अधिकारयों से कीगई लेकिन आदेशों को मानने से मन करदिया और बल्कि रिकॉर्ड में कूट रचना कर हेरा फेरी करके पूर्व में जारी नियुक्ति पत्र के स्थान पर अन्य पत्र भाष बदलकर तैयार केरलीय गए जिसमे याचिया को सलाह दी जाने लगी के याचिया एएम्यू मे जॉब के लिए वैज्ञापन देखे और आवेदन भरे जबके याचया दुआरा पूर्व में ही सं 2009.…...2013 तक विज्ञापन देखकर आवेदन किये गए और विज्ञापन के अनुसार एएमयू वीसी के निर्देशन में सिलेक्शन कमिटी एएम्यू दुआरा दिनाक 8.7.13को चुंलिया गया लेकन रंजिश वश जोइनिंग नही दी ।

याचिया दुआरा आरोपीयों पर भारत के सर्वोच्च अधिकारयों के आदेशों को ना मानकर देश दिरोह का अपराध करना , महिला का। आर्थिक मानसिक उत्पीडन कर ज़ेहनी बेमार कर हत्याहोने की परिस्तिथि पैदा कर हत्या का षड्यंत्र करना ,रिकॉर्ड में कूटरचना कर हेरफेरिकर धोकाधडी ,करना आदि अपराध करने के लिए मुक़दमा सीजेएम कोर्ट अलीगरह मे दर्ज कराया ह जिसमे अदालत ने थाने से रिपोर्ट तलब की है।