क्या शरणार्थियों को भगाना चाहता है जर्मनी?

क्या शरणार्थियों को भगाना चाहता है जर्मनी?

जर्मनी ने पिछले साल रिकॉर्ड संख्या में शरणार्थियों को दूसरे यूरोपीय देशों में भेजा है. ऐसा ईयू के डबलिन III नियम के मुताबिक हुआ है जो कहता है कि शरणार्थियों के आवेदन की प्रक्रिया उसी देश में पूरी हो जहां वे सबसे पहले आए.

जर्मनी से प्रत्यर्पित किए गए शरणार्थियों में से ज्यादातर को इटली भेजा गया है. जर्मन अखबार ज्यूड डॉयचे साइटुंग को मिली जर्मन गृह मंत्रालय की रिपोर्ट कहती है कि इतने ज्यादा शरणार्थी पहले कभी डिपोर्ट नहीं किए गए जितने 2018 में किए गए हैं. यह रिपोर्ट जर्मनी की वामपंथी पार्टी की तरफ से पूछे गए सवाल के जवाब में तैयार की गई है.

वर्ष 2018 में जनवरी से लेकर नवंबर तक कुल 8,658 लोगों को जर्मनी से अन्य यूरोपीय देशों में भेजा गया जबकि 2017 में यह संख्या 7,102 थी. जर्मनी से अन्य यूरोपीय देशों में प्रत्यर्पित किए लोगों की संख्या में 2017 में 15.1 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई जो 2018 में बढ़ कर 24.5 प्रतिशत हो गई.

साभार- ‘डी डब्ल्यू हिन्दी’



from The Siasat Daily http://bit.ly/2FSfQJt