2005-12 के दौरान कश्मीर शांतिपूर्ण था : वीके सिंह

2005-12 के दौरान कश्मीर शांतिपूर्ण था : वीके सिंह

शिमला : केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने शिमला में पुलवामा हमले पर कहा किसी भी हादसे के बाद अगर आप कुछ करना चाहते हैं तो वह कार्रवाई उचित होनी चाहिए। उस कार्रवाई का वह प्रभाव होना चाहिए जो आप चाहते हैं। सरकार इसी दिशा में काम कर रही है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि आतंकवाद के आकाओं को समझ में आएगा कि उन्होंने कितनी बड़ी गलती कर दी है। प्रधामंत्री मोदी के इस वाकया से ही जनता को आभास हो गया है कि किस तरह की बड़ी कार्रवाई सरकार करने जा रही है। सरकार रणनीति बना रही है, जल्द ही इसके परिणाम दिखेंगे।

वीके सिंह ने कहा कि 2005 से 2012 तक कश्मीर में माहौल काफी हद तक शांत था। लेकिन इसके बाद माहौल क्यों बिगड़ा? इस पर विचार करना चाहिए। इससे पहले खासतौर पर दक्षिण कश्मीर में माहौल काफी शांत हो गया था, जो बिगडऩा शुरू हुआ।

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह ने कहा कि अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को अमेरिका ने एक ही दिन में नहीं मार गिराया था। इसलिए पुलवामा आतंकी हमले का बदला लेने के लिए सेना कार्रवाई करेगी। इसलिए हमें इंतजार करना चाहिए।

वीके सिंह ने शिमला में आयोजित पत्रकार सम्मेलन में कहा कि देश सुरक्षित है और इसकी चिंता सेना करती है। कश्मीर घाटी में पत्थरबाज हैं, लेकिन समूचा युवा वर्ग पत्थरबाज नहीं है। पुलवामा आतंकी हमले के बाद देश से सीधा हमला करने की भावनाएं आ रही हैं। लेकिन प्रतिशोध योजनागत तरीके से लिया जाना चाहिए। जल्दबाजी में कुछ भी करना उचित नहीं होता है।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2Gyu6rY