मोदी सरकार को हर हाल में वापस लेना होगा ‘नागरिकता (संशोधन) बिल’- ममता बनर्जी

मोदी सरकार को हर हाल में वापस लेना होगा ‘नागरिकता (संशोधन) बिल’- ममता बनर्जी

नागरिकता (संशोधन) विधेयक पर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने अपना रुख पूरी तरह स्पष्ट कर दिया है। ममता ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि वो, मोदी सरकार के इस विधेयक का समर्थन बिल्कुल भी नहीं करेंगी। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एनआरसी पर टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी से समर्थन करने का आग्रह किया था।

न्यूज़ ट्रैक के मुताबिक, एनआरसी पर बोलते हुए ममता बनर्जी ने शनिवार को कहा है कि, केंद्र सरकार चाहती है कि हम नागरिकता विधेयक के लिए उनका समर्थन करें। इस विधेयक को लाकर मोदी सरकार बंगालियों को यहां से बाहर करना चाहती है।

यही नहीं सरकार नेपालियों और बिहारियों को भी देश से बाहर करना चाहती है। ममता ने कहा है कि, मोदी सरकार ने करीब 22 लाख बंगालियों का नाम एनआरसी सूची में डाला है।

मोदी सरकार दंगा भड़काना चाहती है, किन्तु हम उन्हें उनके मंसूबों में सफल नहीं होने देंगे। ममता ने कहा है कि, ‘हम पूर्वोत्तर राज्यों को जलने नहीं देंगे। सरकार को यह बिल वापस लेना ही पड़ेगा।’ आपको बता दें कि नागरिकता अधिनियम’ 1955 को बदलने के लिए नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2016 लाया गया था।

केंद्र सरकार ने इस विधेयक के माध्यम से अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान के हिंदुओं, सिखों, बौद्धों, जैन, पारसियों और ईसाइयों को बिना किसी कानूनी दस्तावेज के भारत की नागरिकता प्रदान करने का प्रस्ताव रखा है। इसके लिए उनके निवास काल को भी 11 वर्ष से कम कर छह वर्ष कर दिया गया है।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2DQxRGU