अब बीजेपी का नया नारा, ‘काम करे जो, उम्मीद उसी से हो’

अब बीजेपी का नया नारा, ‘काम करे जो, उम्मीद उसी से हो’

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को लोकसभा चुनाव के लिए अपने चुनावी घोषणापत्र को अंतिम रूप देने से पहले मतदाताओं से सुझाव मांगने के लिए एक अभियान की शुरुआत की।

इस अभियान के तहत देश भर के 10 करोड़ परिवारों से उनके सुझाव और साथ ही ‘नए भारत’ के प्रति उनकी उम्मीदों के बारे में पूछा जाएगा।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह सहित कई केंद्रीय मंत्रियों और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में अशोका होटल में ‘भारत के मन की बात, मोदी के साथ’ अभियान की शुरुआत की गई। राजनाथ सिंह पार्टी की घोषणापत्र समिति के प्रभारी भी हैं।

शाह ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “यह भारत की चुनावी प्रक्रिया के इतिहास में एक अनूठा अभियान है। इस अभियान के माध्यम से भाजपा जनता तक पहुंचेगी और 10 करोड़ परिवारों से संपर्क कर उनके सुझाव मांगेगी।”

उन्होंने कहा कि महीने भर चलने वाले इस अभियान के जरिए ‘नए भारत’ के प्रति मतदाताओं की उम्मीदों को जानने की कोशिश की जाएगी।

शाह ने कहा कि एलईडी से सुसज्जित 300 से अधिक वाहन 7,700 बक्सों के साथ पूरे देश में घूम-घूमकर 4,000 विधानसभा क्षेत्रों के लोगों से उनकी राय मांगेंगे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक राज्य में एक 20 सदस्यीय टीम जानकारी और सुझाव इकठ्ठा करेगी।

उन्होंने कहा कि व्हाट्सएप, ट्विटर और फेसबुक के माध्यम से भी सुझाव मांगे जाएंगे।

शाह ने कहा कि घोषणापत्र को पहले हल्के में लिया जाता था और अब भाजपा उस धारणा को बदलना चाहती है।

उन्होंने कहा, “हम देश के अन्य दलों से अलग हैं। हमारे पास परिवार आधारित या जाति आधारित पार्टियों के विपरीत आंतरिक लोकतांत्रिक व्यवस्था है। हम वोटबैंक के बजाए विचारधारा पर काम करते हैं।” उन्होंने कहा कि इस पहल का उद्देश्य घोषणापत्र को तैयार करने की प्रक्रिया का लोकतंत्रीकरण करना है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि स्वतंत्र भारत में ऐसा कोई अभियान कभी नहीं चलाया गया है। उन्होंने बताया कि किसानों, युवाओं, महिलाओं, विकास, सुशासन और राष्ट्रीय सुरक्षा सहित 12 क्षेत्रों की रूपरेखा तैयार की गई है जहां पार्टी घोषणापत्र तैयार करते समय अपना ध्यान केंद्रित करेगी।

उन्होंने कहा कि पार्टी ने इन मुद्दों पर सुझावों को देखने के लिए 12 वरिष्ठ नेताओं को नियुक्त किया है। इनमें मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली, स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर, थावर चंद गहलोत, डॉ. हर्षवर्धन, हरदीप सिंह पुरी और विनय सहस्रबुद्धे शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि उनकी अध्यक्षता के अंतर्गत स्थापित चुनाव घोषणापत्र समिति सभी हितधारकों के साथ परमार्श के बाद सुझावों को शामिल करेगी। उन्होंने आर्थिक, आंतरिक सुरक्षा, विदेश नीति, सांस्कृतिक विरासत और महिला सशक्तिकरण सहति विभिन्न क्षेत्रों में मोदी की उपलब्धियों को भी गिनाया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहल को एक अनूठा प्रयास करार दिया और सभी से इस अभियान में भाग लेने का आग्रह किया।

उन्होंने ट्वीट कर कहा, “हमारी पार्टी के लिए सहभागी लोकतंत्र हमारे विश्वास का एक भाग है। हमने हमेशा प्रत्येक भारतीय के अधिकारों व भलाई के लिए एक प्रभावी आवाज बनने और एक मजबूत व समृद्ध भारत के निर्माण के लिए काम किया है।”

भाजपा ने एक नारे ‘काम करे जो, उम्मीद उसी से’ के साथ अपने कार्यक्रम की पहुंच लोगों तक बढ़ाने के लिए एक फिल्म भी लॉन्च की।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2WDYd6h