चीन: मुस्लिमों के खिलाफ़ म्यांमार जैसे हालात बनाने की कोशिश!

चीन: मुस्लिमों के खिलाफ़ म्यांमार जैसे हालात बनाने की कोशिश!

अमरीका की कुख्यात सुरक्षा एजेन्सी ब्लैक वॉटर के संस्थापक और हांगकांग की सुरक्षा कंपनी एरिक प्रिंस ने चीन में ट्रेनिंग सेन्टर बनाने का समझौता किया है।

ब्रिटिश समाचार पत्र दा गार्डियन के अनुसार एरिक प्रिंस चीन के मरुस्थलीय क्षेत्र सिनकियांग में ट्रेनिंग सेन्टर बनाएगी, यही वही क्षेत्र है जहां इग़ोर मुसलमानों को व्यापक स्तर पर सुरक्षा बलों के क्रैक डाऊन का सामना है।

ख़तरनाक क्षेत्रों में सुरक्षा और व्यापारिक सामान पहुंचाने में दक्षता रखने वाले “फ़्रंटियर सर्विसेज़ ग्रुप” ने कहा है कि उसने चीन के शहर काशग़र में प्रशिक्षण बेस चलाने के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं।

इस फ़र्म के मालिक अमरीकी नेवी के पूर्व सैनिक एरिक प्रिंस हैं जो अमरीकी सेना की कंट्रेक्टर कुख्यात सुरक्षा कंपनी ब्लैक वॉटर की स्थापना के लिए प्रसिद्ध हैं।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, ब्लैक वॉटर पर अमरीका की अफ़ग़ानिस्तान और इराक़ युद्ध में व्यपाक स्तर पर जनसंहार करने का आरोप है किन्तु इसकी भूमिका हमेशा से विवादित रही है और यह घिनौने युद्ध अपराध में लिप्त रही जिसमें इराक़ में ब्लैक वॉटर के हाथों 14 निहत्थे इराक़ी नागरिकों का जनसंहार भी शामिल है।

फ़्रंटियर सर्विसेज़ ग्रुप चीन के साथ साथ अफ़्रीक़ा सहित विदेशों में काम करने वाली कंपनियों के भी अनेक कंट्रेक्ट प्राप्त किए। सिनकियांग में इस कंपनी की उपस्थिति पर प्रश्न चिन्ह लगाए जा रहे हैं क्योंकि पहले ही चीनी अधिकारियों पर यह आरोप लगाया जाता है कि वहां मुसलमानों के विरुद्ध सेक्युरेटी क्रैक डाऊन जारी है।

सिनकियांग में संदिग्ध रूप से लगभग 10 लाख के निकट मुसलमानों सहित अन्य अल्पसंख्यकों को अदालत के आदेश के बिना कैंपों में रखा गया है और रिपोर्ट के अनुसार बड़ी संख्या में लोगों को जेल में डाल दिया गया है। यह कंपनी सिनकियांग में छह लाख डॉलर का पूंजीनिवेश करेगी जिसकी वजह से हर वर्ष आठ हज़ार लोगों को प्रशिक्षित किया जाएगा।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2DQxGeI