रिटर्न अॉफ मार्च: प्रदर्शन कर रहे फलस्‍तीनीयों पर इजरायली सैनिकों का हमला, दर्जनों घायल

रिटर्न अॉफ मार्च: प्रदर्शन कर रहे फलस्‍तीनीयों पर इजरायली सैनिकों का हमला, दर्जनों घायल

फिलिस्तीन के गज़्ज़ा पट्टी में फिलिस्तीनी शरणार्थियों की वापसी के अधिकार के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन और प्रदर्शनकारियों के खिलाफ इस्राईली सैनिकों के हिंसक व्यवहार जारी है।

फिलिस्तीन के स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार की रात एक बयान जारी करके बताया है कि इस्राईल के खिलाफ जारी ” शांतिपूर्ण वापसी मार्च” के 45 वें 32 फिलिस्तीनी घायल हुए हैं। इस सप्ताह शुक्रवार को ” वापसी मार्च” का नारा था कि ” फिलिस्तीनी बंदी अकेले नहीं हैं ”

इस्राईली सैनिकों ने शांतिपूर्ण रूप से प्रदर्शन करने वाले फिलिस्तीनियों पर फायरिंग की और आंसू गैस के गोले दागे जिससे 32 फिलिस्तीनी घायल हो गये।

parstoday.com के अनुसार, गत 30 मार्च से आरंभ होने वाले शांतिपूर्ण प्रदर्शनों पर इस्राईली सैनिकों के हमलों में अब तक 260 फिलिस्तीनी शहीद हो चुके हैं जबकि कम से कम 27 हज़ार लोग घायल हो चुके हैं।

इसी मध्य कुद्स प्रेस के अनुसार ज़ायोनी सैनिकों ने सन 2019 के पहले महीने अर्थात जनवरी में पश्चिमी तट में 5 और गज़्ज़ा पट्टी में 6 फिलिस्तीनियों की हत्या की है। रिपोर्ट के अनुसार इसी प्रकार इस दौरान 12 सौ फिलिस्तीनी , इस्राईली सैनिकों के हाथों घायल भी हुए हैं।

इसी प्रकार पिछले एक महीने के दौरान फिलिस्तीनियों की 35 इमारतों को ध्वस्त कर दिया गया जबकि 30 घरों को इस्राईली अधिकारियों ने ध्वस्त करने की चेतावनी दी है। इस्राईल ने 38 फिलिस्तीनियों के शवों को भी अपने पास रखा है और उन्हें , परिजनों को सौंपने से इन्कार कर रहा है।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2WBCThJ