कांग्रेस को कमजोर करने वाले नेताओं को दिखाएंगे- प्रियंका गांधी

कांग्रेस को कमजोर करने वाले नेताओं को दिखाएंगे- प्रियंका गांधी

कांग्रेस पार्टी का महासचिव नियुक्‍त करने के बाद से प्रियंका गांधी लोकसभा चुनाव में पार्टी के जीत को लेकर काफी गंभीर हो गई हैं। खासकर मिशन यूपी को वह अपने लिए सबसे बड़ा चुनौती मानकर चल रही हैं।

यही कारण है कि लखनऊ से चुनावी तैयारियों का आगाज करने वाली प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों के सियासी माहौल का बारीकी से जायजा ले रही हैं। इसका असर भी दिखाई देने लगा है।

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, उन्‍होंने पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं को साफ शब्‍दों में कह दिया है कि पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा। या तो पार्टी के नेता पूरी प्रतिबद्धता के साथ पार्टी हित में काम करें या कार्रवाई को झेलने के लिए तैयार रहें।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस का वाररूम कहे जाने वाले 15 गुरुद्वारा रकाबगंज रोड पर करीब सवा घंटे की बैठक में प्रियंका ने बुंदेलखंड क्षेत्र में पार्टी के कामकाज की समीक्षा की। बैठक में मौजूद एक नेता ने बताया कि प्रियंका गांधी जी ने साफ शब्‍दों में कह दिया है कि बूथ स्तर पर कांग्रेस को मजबूत करना पड़ेगा।

अकेले मुझसे आप लोग चमत्कार की उम्‍मीद न करें। पार्टी की जीत के लिए आप लोगों को संगठित होकर काम करना होगा। मेरा पूरा सहयोग करना होगा। साथ ही मैडम ने ये भी साफ कर दिया है कि जो नेता पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल पाए जाएंगे, उनको बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।

आपको बता दें कि पार्टी का महासचिव बनाए जाने के बाद से प्रियंका गांधी लगातार पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ चुनावी जीत को लेकर मंथन में जुटी हैं। लखनऊ में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ उनकी बैठक 16 घंटे चली थी।

जयपुर से लौटने के बाद उन्‍होंने यूपी के आठ लोकसभा क्षेत्रों से आए पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की। इनमें अमेठी और रायबरेली के नेता भी शामिल थे। पार्टी कार्यकर्ताओं से प्रियंका ने कहा कि संगठन में बड़े पैमाने पर बदलाव की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि मैं संगठन के बारे में सीख रही हूं। आप लोगों की राय सुन रही हूं। हमारा फोकस चुनावी जीत हासिल करने पर है और आप लोगों को इसमें मेरा सहयोग करना होगा।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2GyOERb