कश्मीर में आतंकीयों ने सरेंडर नहीं किया तो खत्म कर दिया जायेगा- सेना

कश्मीर में आतंकीयों ने सरेंडर नहीं किया तो खत्म कर दिया जायेगा- सेना

भारतीय सेना, CRPF और पुलिस ने मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आतंकियों को सख्त संदेश दिया। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में सुरक्षाबलों की तरफ से सख्त संदेश दिया गया कि जो आतंकी सरेंडर नहीं करेगा, उसे खत्म कर दिया जाएगा।

पुलवामा आतंकी हमले में 40 बहादुर जवानों को खोने के बाद पूरे देश में गम और गुस्से का माहौल है। इस बीच सोमवार को पुलवामा में ही एक मुठभेड़ में हमलों के मास्टरमाइंड अब्दुल रशीद गाजी, जैश-ए-मोहम्मद के कमांडर कामरान और एक अन्य आतंकी को मार गिराया गया। हालांकि इस ऑपरेशन में एक मेजर समेत देश के 5 सिपाही शहीद हो गए।

सेना ने कहा, ‘पुलवामा हमले और एनकाउंटर में शहीद हुए सभी जवानों को मैं नमन करता हूं। एनकाउंटर में 2 पाकिस्तानियों के साथ 1 स्थानीय आतंकी की भी मौत हुई है। मैं जम्मू-कश्मीर की माताओं से अपील करता हूं कि अपने बच्चों को समझाएं और गलत रास्ते पर चले गए लड़कों को सरेंडर करने के लिए बोलें।’

सेना ने आतंकियों को चेतावनी देते हुए कहा कि वे सरेंडर कर दें, वर्ना उन्हें खत्म कर दिया जाएगा। सेना ने कहा, ‘हम सरेंडर करनेवालों के लिए कई तरह के अच्छे कार्यक्रम चला रहे हैं, लेकिन आतंकी वारदातों में शामिल रहनेवालों के लिए कोई रहमदिली नहीं दिखाई जाएगी। पुलवामा हमले के 100 घंटे के भीतर ही आतंकियों को ढेर कर दिया गया। इस हमले में ISI के हाथ होने की आशंका से इनकार नहीं करते हैं।’

वहीं, CRPF के IG जुल्फिकार हसन ने कहा, ‘शहीद हुए जवानों के परिवार से मैं कहना चाहूंगा कि आप अपने को अकेले न समझें। हम आपके लिए हर वक्त खड़े हैं। देश के विभिन्न हिस्सों में पढ़ने वाले कश्मीरी बच्चों के लिए भी हम हेल्पलाइन चला रहे हैं, ताकि उन्हें अप्रिय स्थिति का सामना न करना पड़े।’

लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन GOC चिनार कॉर्प्स ने कहा, ‘हम स्पष्ट कर दें कि सेना के ऑपरेशन में पूरी तरह से किसी स्थानीय को कोई चोट न पहुंचे इसका ख्याल रखा गया। मुठभेड़ में जैश के 3 कमांडर ढेर हुए हैं।

इस हमले में और कौन शामिल थे और क्या प्लान थे, यह हम शेयर नहीं कर सकते। जैश-ए-मोहम्मद पाकिस्तान आर्मी का ही बच्चा है। इस हमले में पाकिस्तानी सेना का 100 फीसदी इनवॉल्वमेंट हैं। इसमें हमें और आपको कोई शक नहीं है।’

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, लेफ्टिनेंट जनरल ढिल्लन ने कहा, ‘मैं सभी को आश्वस्त करता हूं कि सभी तरह की इंटेलिजेंस पर हम काम कर रहे हैं। कश्मीर में युवा आतंकियों की नियुक्ति पिछले कुछ महीनों में कम हुई है। घाटी में जो भी घुसपैठ करेगा वह जिंदा नहीं बचेगा।

कश्मीर घाटी में पाकिस्तान द्वारा घुसपैठ जारी है, लेकिन घुसपैठ में काफी हद तक कमी आई है। पुलवामा एनकाउंटर में घायल हुए ब्रिगेडियर हरदीप सिंह छुट्टी पर थे, एनकाउंटर की खबर मिलने पर वह स्वेच्छा से घटनास्थल पर पहुंचे थे और पूरे एनकाउंटर को लीड किया था।’



from The Siasat Daily http://bit.ly/2Gxwtvi