सऊदी अरब को रौंदने के लिए हम कानून बनायेंगे!

सऊदी अरब को रौंदने के लिए हम कानून बनायेंगे!

सऊदी अरब के विदेशी मामलों के राज्य मंत्री आदिल अलजुबैर अमरीका के दौरे पर गए हैं जहां उन्हें बड़े कठोर सवालों का सामना करना पड़ रहा है। सीबीएस टीवी चैनल से बातचीत में आदिल अलजुबैर ने कह दिया था कि क्राउन प्रिसं मुहम्मद बिन सलमान हमारी रेड लाइन हैं।

वरिष्ठ सऊदी पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या के मामले में बिन सलमान प्रमुख अभियुक्त हैं, अमरीकी ख़ुफिया एजेंसियां और अमरीकी कांग्रेस इस निष्कर्ष पर पहुंचे हैं कि इस हत्या के ज़िम्मेदार मुहम्मद बिन सलमान हैं। मगर सऊदी अरब की सत्ता इस समय व्यवहारिक रूप से बिन सलमान के ही हाथ में हैं और उनके बारे में कहा जाता है कि वह सत्ता अपने हाथ से हरगिज़ जाने नहीं देंगे।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, आदिल अलजुबैर इस मिशन पर काम कर रहे हैं कि अमरीकी कांग्रेस बिन सलमान के विरुद्ध अपने ठोस रुख़ में कुछ नर्मी पैद के। अलजुबैर अमरीका में सऊदी अरब के राजदूत रह चुके हैं और कहा जाता है कि अलग अलग लाबियों से उनके संबंध हैं।

मगर अलजुबैर ने बिन सलमान को रेड लाइन घोषित करके एसा लगता है कि ग़लती कर दी है क्योंकि उनके इस बयान पर प्रतिनिधि सभा के सदस्य टेड लू ने बड़ी कठोर प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि आदिल अलजुबैर झूठे हैं उन्हें अमरीकी जनता के बीच झूठ फैलाने के लिए अमरीकी संचार माध्यमों का प्रयोग करने से बचना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया कि अमरीकी जनता बेवक़ूफ़ नहीं है हम चाहते हैं कि झूठ बोलकर हमारा अपमान करने का सिलसिला आदिल अलजुबैर बंद करेंगे।

अमरीकी प्रतिनिधि सभा के एक अन्य सांसद टाम मालीनोस्की ने कहा कि हम एसा क़ानून पास करेंगे जो आदिल अलजुबैर की रेड लाइन को रौंद देगा। उन्होंने कहा कि आदिल अलजुबैर यदि समझते हैं कि धमकी देकर हमें प्रभावित कर लेंगे तो यह उनकी बहुत ख़राब सोच है।

टीकाकार यह समझते हैं कि जहां एक तरफ़ बिन सलमान पूरी ताक़त से सत्ता से चिपके हुए हैं और देश के भीतर वह इसके लिए हर ख़तरा मोल लेने के लिए तैयार हैं वहीं दूसरी ओर एसा लगता है कि अमरीकी कांग्रेस और अमरीकी इंटेलीजेन्स एजेंसियों के साथ ही अमरीकी मीडिया ने यह मन बना लिया है कि बिन सलमान के पर कतरना ज़रूरी है।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2tjY4r6