नयी दिल्ली को अपनी दिक्कतों के लिए इस्लामाबाद को जिम्मेदार ठहराना बंद करना चाहिए- पाकिस्तान

नयी दिल्ली को अपनी दिक्कतों के लिए इस्लामाबाद को जिम्मेदार ठहराना बंद करना चाहिए- पाकिस्तान

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि उनके देश का भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का कोई इरादा नहीं है और नयी दिल्ली को कश्मीरी अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक से टेलीफोन पर उनकी बातचीत को मुद्दा नहीं बनाना चाहिए।

भारत ने बुधवार को पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद को तलब किया था और उन्हें स्पष्ट रूप से बताया था कि कुरैशी द्वारा फोन पर की गई बातचीत भारत की एकता को तोड़ने का ‘शर्मनाक प्रयास’ है और यह उसकी संप्रभुत्ता तथा क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन करता है।

विदेश सचिव विजय गोखले ने महमूद को ‘आगाह’ किया कि ऐसे व्यवहार के ‘प्रभाव’ होंगे। डॉन अखबार के मुताबिक, मुल्तान में शनिवार को मीडिया से बातचीत में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान का भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का कोई इरादा नहीं है लेकिन पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि उनके देश का भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का कोई इरादा नहीं है और नयी दिल्ली को कश्मीरी अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक से टेलीफोन पर उनकी बातचीत को मुद्दा नहीं बनाना चाहिए।

ज़ी न्यूज़ पर छपी खबर के अनुसार, भारत ने बुधवार को पाकिस्तान के उच्चायुक्त सोहेल महमूद को तलब किया था और उन्हें स्पष्ट रूप से बताया था कि कुरैशी द्वारा फोन पर की गई बातचीत भारत की एकता को तोड़ने का ‘शर्मनाक प्रयास’ है और यह उसकी संप्रभुत्ता तथा क्षेत्रीय अखंडता का उल्लंघन करता है।

विदेश सचिव विजय गोखले ने महमूद को ‘आगाह’ किया कि ऐसे व्यवहार के ‘प्रभाव’ होंगे। डॉन अखबार के मुताबिक, मुल्तान में शनिवार को मीडिया से बातचीत में कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान का भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने का कोई इरादा नहीं है लेकिन नयी दिल्ली को अपनी दिक्कतों के लिए इस्लामाबाद को जिम्मेदार ठहराना बंद करना चाहिए।

उन्होंने यह माना कि उन्होंने हुर्रियत नेता मीरवाइज से बात की और कहा कि भारत को इसे मुद्दा नहीं बनाना चाहिए। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कुरैशी के हवाले से कहा, ‘हम बातचीत के जरिए कश्मीर विवाद हल करना चाहते हैं लेकिन भारत अनावश्यक हंगामा कर रहा है।

उन्होंने कहा, ‘भारत में मुद्दे उभर रहे हैं लेकिन पाकिस्तान की उसमें कोई भूमिका नहीं है।’ नयी दिल्ली को अपनी दिक्कतों के लिए इस्लामाबाद को जिम्मेदार ठहराना बंद करना चाहिए।

उन्होंने यह माना कि उन्होंने हुर्रियत नेता मीरवाइज से बात की और कहा कि भारत को इसे मुद्दा नहीं बनाना चाहिए। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कुरैशी के हवाले से कहा, ‘हम बातचीत के जरिए कश्मीर विवाद हल करना चाहते हैं लेकिन भारत अनावश्यक हंगामा कर रहा है। उन्होंने कहा, ‘भारत में मुद्दे उभर रहे हैं लेकिन पाकिस्तान की उसमें कोई भूमिका नहीं है।



from The Siasat Daily http://bit.ly/2WDY6Yp