न्यूज़ीलैंड मस्जिदों पर हमला: सड़कों पर उतर कर नमाज़ अदा की गई!

न्यूज़ीलैंड मस्जिदों पर हमला: सड़कों पर उतर कर नमाज़ अदा की गई!

न्यूज़ीलैंड की दो मस्जिदों पर हमला करने वाला आतंकी “ब्रेंटन टैरेंट” को पुलिस ने गिरफ़्तार करके अदालत में पेश कर दिया है। प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, 28 वर्षीय आतंकी ब्रेंटन टैरेंट ऑस्ट्रेलियाई नागरिक है, आरोपी को शनिवार को हथकड़ी लगाकर क्राइस्टचर्च की अदालत में पेश किया गया। अदालत में पेशी के समय कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए थे जबकि सुरक्षा के मद्देनज़र सुनवाई बंद कमरे में की गई।

पार्स टुडे डॉट कॉम के अनुसार, मामले की सुनवाई के दौरान एक ग़ुस्साए व्यक्ति ने चाकू लेकर अदालत में घुसने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने उसके घुसने से पहले ही उसको गिरफ़्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार आतंकवादी ब्रेंटन टैरेंट पर फिलहाल हत्या का आरोप लगाया गया है, अन्य आरोप बाद में तै किए जाएंगे।

इस बीच जहां आतंकी यह सोच रहे थे कि मस्जिद पर हमला करके नमाज़ियों को मौत के घाट उतार कर लोगों के दिलों में भय और डर पैदा कर देंगे और लोग मस्जिद में आने से बचेंगे, वहीं हुआ इसके विपरीत क्योंकि शुक्रवार की ही शाम न्यूज़ीलैंड के मुसलमान इससे पहले कि अपने परिजनों, दोस्तों और जानने वालों के अंतिम संस्कार में जाते वे वह उसी मस्जिद के बाहर इकट्ठा हुए और मग़रिब और इशा अर्थात रात की नमाज़ अदा की।

जब न्यूज़ीलैंड के मुसलमान मस्जिद के बाहर नमाज़ अदा कर रहे थे उसी समय हज़ारों की संख्या में इस देश के आम लोग वहां मौजूद रहकर अपने देश के मुस्लिम भाइयों के लिए सुरक्षा घेरा बनाए हुए थे।

उल्लेखनीय है कि न्यूज़ीलैंड की मस्जिदों पर आतंकवादी हमला करने वाला आतंकी ब्रेंटन टैरेंट अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प का समर्थक है और उसने आतंकी हमले से पहले ट्रम्प की जमकर तारीफ़ की है।

ज्ञात रहे कि शुक्रवार को न्यूज़ीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में दो मस्जिदों पर एक आतंकवादी ने अंधाधुंध फ़ायरिंग करके हमला किया था जिसमें 50 लोग शहीद हुए और 50 के क़रीब घायल हुए हैं।



from The Siasat Daily https://ift.tt/2ubxKjq