जामिया ने पहले उद्यमिता शिखर सम्मेलन में छात्रों के स्टार्टअप शुरू करने में अपने पूर्व छात्रों को शामिल करने का एक ख़ाका तैयार करने का फैसला किया

 

जामिया मिल्लिया इस्लामिया के नवाचार एवं उद्यमिता केन्द्र ने 13 और 14 अप्रैल, 2019 को ‘एम्फसिस ओ ‘ नामक एक उद्यमिता शिखर सम्मेलन का आयोजन किया। इस दौरान इंटर्नशिप फेयर, पूर्व छात्रों का उद्यमी नेटवर्किंग सत्र, निवेशकों के साथ स्टार्टअप पिच सत्र और कई अन्य कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस दो दिवसीय ई शिखर सम्मेलन में जामिया सहित विभिन्न विश्वविद्यालयों के 450 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

बी डब्ल्यू बिजनेस वल्र्ड ऐन्ड एक्सचेंज 4 मीडिया के चेयरमैन और एडिटर इन चीफ डा अनुराग बत्रा इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे। उद्धाटन सत्र की अध्यक्षता जामिया के रजिस्ट्रार ए. पी. सिद्दीकी:आईपीएसः ने की।

निति आयोग में अटल इनोवेशन मिशन के हेड आफ आपरेशंस डा उन्नत पंडित और एनआईईएसबीयूडी की निदेशक डा पूनम सिन्हा आयोजन के गेस्ट आफ आनर थे।

प्रमुख उद्मियों ने उद्यमी वार्ता का आयोजन किया जिसमें सू काम के संस्थापक कुंवर सचदेव, पेटीएम के उपाध्यक्ष सौरभ जैन और माइक्रोमैक्स इंफार्मेटिक्स के सह संस्थापक ने अपने विचार रखे। इस सत्र में प्रश्नोत्तर का दौर भी चला।

इस कार्यक्रम में पूर्व छात्र उद्यमिता बैठक भी आयोजित हुई जिसमें 30 पूर्व छात्र उद्यमियों ने हिस्सा लिया।

सेंटर फार इनोवेशन एंड एंटरप्रेन्योरशिप के निदेशक प्रो ज़िशान हुसैन खान और प्रशिक्षण एवं प्लेसमेंट अधिकारी रिहान खान सूरी ने जामिया के छात्रों द्वारा सफल स्टार्टअप शुरू करने में विश्वविद्यालय के पूर्व छात्रों से सहयोग करने का आग्रह किया।

 

इसमें फैसला किया गया कि जामिया के छात्रों के स्टार्टअप शुरू करने में सतत मदद करने के लिए पूर्व छात्रों को सक्रिय रूप से शामिल करने के लिए एक खाका तैयार किया जाएगा। इसके लिए तय किया गया कि इस खाके को तैयार करने के लिए दिसंबर 2019 में अगली बैठक आयोजित होगी।

समापन सत्र में एक इंटर्नशिप मेले का आयोजन किया गया जिसमं 40 कंपनियों ने भाग लिया और इंटर्नशिप प्रशिक्षण के लिए सैंकड़ों छात्रों का नामांकन किया।

 

 

0Shares


from आगे बढ़ रहे हैं http://bit.ly/2IzZxm1